29 May 2010

संगीता पुरी जी ने कहा था

23 मई 2010 को जाट धर्मशाला नांगलोई में ब्लागर बैठक में मेरी किससे क्या-2 बातें हुई, वो सब बाद में समय मिलने पर लिखूंगा। आज बस इतना ही कि आदरणीया संगीता पुरी जी ने कहा था - "28-29 को बारिश जरुर हो जायेगी।"
लो जी दिल्ली में अभी-अभी बारिश शुरू हो गई है। समय 4:30 शाम का
कल भी दिल्ली और रोहतक में आसमान साफ नही था और पूरा दिन तेज हवायें (आंधियां जैसी) चलती रही थी।
अभी तो बारिश धीमे-धीमे हो रही है।

15 comments:

  1. संगीता मैडम मेरे बारे में भी कुछ भविष्यावानी करे

    ReplyDelete
  2. यार आपने बारिश को शर्मा दिया, बंद हो गई बेचारी !

    ReplyDelete
  3. बेटा माधव, संगीता जी की जगह में भविष्य बाणी कर रहा हूँ , देखना एक दिन आप बहुत ही उच्च कोटि के ब्लोग्गर बनोगे !

    ReplyDelete
  4. जब जब तापमान बहुत अधिक बढ़ जाता है तो गर्म हवा के उपर उठ जाने से भारी ठंडी हवा उसका स्थान लेती है. इसीलिए हर कुछ दिन बाद मई-जून की अकूत गर्मी में भी बूंदा-बांदी या बरसात होती है. इसके लिए भविष्यवाणियों की ज़रूरत नहीं होती.

    ReplyDelete
  5. काजल जी,
    जरा बताना कि अब जून में पहली बारिश कब होगी। ये तो आपके लिये आसान ही होना चाहिये, क्योंकि जून आने में मात्र दो ही दिन बचे हैं। ज्यादा सोचना भी नहीं पडेगा।

    ReplyDelete
  6. अमित जी, रिवर राफ़्टिंग अच्छी रही न? वो गाना तो याद आया होगा जरूर, "मानो तो मैं गंगा मां हूं, न मानो तो बहता पानी।"

    ये गाना आपकी इस पोस्ट का कमेंट है। मानो तो सब है, न मानो तो कुछ नहीं।

    ReplyDelete
  7. लीजिये नजर लग गयी आपकी(या संगीता जी की ) -यहाँ तो सुबह शरू हुयी शाम तक बंद !

    ReplyDelete
  8. संगीता जी की भविष्य बाणी ज्यादा तर सच्ची होती है यह मैने भी देखा है, धन्यवाद

    ReplyDelete
  9. जिन बातों के घटने और न घटने के चांस 50-50 हों उनपे क्या ध्यान देना.

    ReplyDelete
  10. ज्योतिष...मानो तो बहुत कुछ है ...ना मानो तो कुछ नहीं...
    अच्छा लगा जानकार कि उनकी भविष्यवाणी सच हुई

    ReplyDelete
  11. ये तो खूब रही ,,मौसम का अच्छा ज्ञान है :):)....अबके मिले तो पूछना...गर्मी ,मई-और जून में ही क्यूँ पड़ती है ????????????

    ReplyDelete
  12. संगीता जी की भविष्यवाणी तो आज भी सच हुई है मेरे लिए
    हमारे संस्थान की एक आर्थिक उथल-पुथल में बकाया-भुगतान होने-न होने की दुविधा, जिसमें मैं भी शामिल था, नवम्बर 2009 से लंबित चल रही थी। संगीता जी ने अप्रैल में 'कह दिया' था कि मई 2010 के अंतिम दिन तक भुगतान की घोषणा हो जाएगी। आज देखता हूँ कि अखबारों में, कम्पनी द्वारा अपनी ही नीतियों को पलट कर भुगतान कर देने की खबरें आ गईं है।

    सिवाय प्रशंसा के मैं कुछ कह पाऊँगा क्या?

    ReplyDelete
  13. यार जरा सोर्स लगाकर संगीता पुरी जी कह दो न कि वे मेरे ब्लाग पर आए और थोड़ा फोटो-फाटो देखकर ही कुछ बता दे। साला आजकल अपना दिन ठीक नहीं चल रहा है। गदहे-घोड़े सभी आकर जबरिया ही उलझ रहे हैं। मदद करो भाई।
    अपने पास कुंडली नहीं है भाई।

    ReplyDelete
  14. दुनिया बनाने वाले ने दुनिया क्यों बनाई?और क्या कोई भविष्य की घटनाओं को जान सकता है?
    जब आप इस सवाल का जवाब पा जाएंगे तो आप जान जाएंगे कि नर्क या जहन्नम में जाने वाले वही लोग होंगे जिन्होंने धरती पर नाहक़ खून बहाया होगा।
    अगर आप सचमुच जानना चाहते हैं तो मौलाना वहीदुददीन ख़ान साहब से 1, निज़ामुददीन वेस्ट , नई दिल्ली पर सम्पर्क कर सकते हैं। विशेषकर रविवार को सुबह 9 बजे तो उनके पास आप जैसे सवाल लेकर बहुत से लोग आते हैं।
    (Centre For Peace & Spirituality)

    1, Nizamuddin West Market

    New Delhi-11 00 I3

    India



    Order Free Quran, Click:

    www.cpsglobal.org/content/order-free-quran

    www.goodword.net/order_free_quran.aspx

    Website: www.cpsglobal.org, www.alrisala.org

    www.wkhan.net

    ReplyDelete
  15. बेशक़ उनकी बातें सही निकलतीं हैं

    ReplyDelete

मुझे खुशी होगी कि आप भी उपरोक्त विषय पर अपने विचार रखें या मुझे मेरी कमियां, खामियां, गलतियां बतायें। अपने ब्लॉग या पोस्ट के प्रचार के लिये और टिप्पणी के बदले टिप्पणी की भावना रखकर, टिप्पणी करने के बजाय टिप्पणी ना करें तो आभार होगा।